Gunguna Rahe Hain Bhanware By Mohammed Rafi-Asha Bhosle

Gun Guna Rahe Hain Bhanvare sung by Mohammed Rafi and Asha Bhosle.Lyrics by Anand Bakshi. Movie-Aradhana(1969).

Song Gun Guna Rahe Hain Bhanvare
Singer Mohd.Rafi
Movie Aradhana
Lyrics Anand Bakshi
Lyrics in English:

Aaaa…
O oo…
Gunguna rahein hain bhavre
Khil rahi hai kali kali
Gunguna rahein hain bhavre
Khil rahi hai kali kali
Gali gali
Kali kali
Gunguna rahein hain bhavre
Khil rahi hai kali kali
Zara dekho sajan
Be-imaan bhavra kaise muskae
Haay kali yoon sharmaye
Ghoonghat mein gori jaise chup jae
Haay Zara dekho sajan
Be-imaan bhavra kaise muskae
Haay kali yoon sharmaye
Ghoonghat mein gori jaise chup jae haay
Rut aisi, haay kaisi
Ye pawan chali gali gali
Gunguna rahein hain bhavre
Khil rahi hai kali kali
Gali gali
Kali kali
Gunguna rahein hain bhavre
Khil rahi hai kali kali
Kisi ko kya kahein
Hum dono bhi to hain dekho kuch khoye
Oye hua kya, hoy oye
Jage jiya mein armaan soye
Soye kisi ko kya kahein
Hum dono bhi hai dekho kuch khoye
Oye hua kya, hoy oye
Jage jiya mein armaan soye Soye
Rut aisi, haay kaisi
Ye pawan chali gali gali
Gunguna rahein hain bhavre
Khil rahi hai kali kali
Gali gali
Kali kali
Gunguna rahein hain bhavre
Khil rahi hai kali kali
Suno paas na aao
Kali k bahane pyaar na jatao
Gaon chalo baat na banao
Bhavre k bahane aankh na ladao
Jao suno paas na aao
Kali ke bahane pyaar na jatao
Jao chalo baat na banao
Bhavre ke bahane aankh na ladao jao
Rut aisi, haay kaisi
Ye pawan chali gali gali
Gunguna rahein hain bhavre
Khil rahi hai kali kali
Gunguna rahein hain bhavre
Khil rahi hai kali kali
Gali gali, kali kali
Gali gali, kali kali

Local Language:

आ.. आ.. आ.. आ.. आ..
ओ.. आ.. आ.. आ.. आ..
 
गुनगुना रहे हैं भँवरे 
खिल रही हैं कली-कली

गुनगुना रहे हैं भँवरे 
खिल रही हैं कली-कली 
गली-गली, कली-कली
गुनगुना रहे हैं भँवरे 
खिल रही हैं कली-कली

उम.. आ.. आ..

ज़रा देखो सजन
बेईमान भँवरा कैसे मुसकाये
हाय कली यूँ शरमाये
घूँघट में गोरी जैसे छुप जाये

हाय ज़रा देखो सजन
बेईमान भँवरा कैसे मुसकाये
हाय कली यूँ शरमाये
घूँघट में गोरी जैसे छुप जाये हाय

ऋतु ऐसी, हाय कैसी
ये पवन चली गली-गली

गुनगुना रहे हैं भँवरे 
खिल रही हैं कली-कली 
गली-गली, कली-कली
गुनगुना रहे हैं भँवरे 
खिल रही हैं कली-कली

किसी को क्या कहें
हम दोनो भी हैं देखो कुछ खोये
खोये हुआ क्या ओए-ओए
जागे जिया में अरमान सोये  

सोये  किसी को क्या कहें
हम दोनो भी हैं देखो कुछ खोये 
खोये हुआ क्या ओए-ओए 
जागे जिया में अरमान सोये-सोये

ऋतु ऐसी, हाय कैसी
ये पवन चली गली-गली

गुनगुना रहे हैं भँवरे 
खिल रही हैं कली-कली 
गली-गली, कली-कली
हो गुनगुना रहे हैं भँवरे 
खिल रही हैं कली-कली 

आ..आ..आ..

सुनो पास न आओ
कली के बहाने प्यार न जताओ
जाओ चलो बात न बनाओ
भँवरे के बहाने आँख न लड़ाओ

जाओ सुनो पास न आओ
कली के बहाने प्यार न जताओ
जाओ चलो बात न बनाओ
भँवरे के बहाने आँख न लड़ाओ जाओ 

ऋतु ऐसी हाय कैसी
ये पवन चली गली-गली

गुनगुना रहे हैं भँवरे 
खिल रही हैं कली-कली 

गुनगुना रहे हैं भँवरे 
खिल रही हैं कली-कली
गली-गली, कली-कली 
गली-गली..
  

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *